Adani Group ने किया बड़ा दावा, जानकर हो जाओगे हैरान

भारत के अदानी समूह और एशिया के सबसे अमीर अरबपति गौतम अडानी (Gautam Adani) की कंपनी की रेटिंग एक संप्रभु के रूप में भारत की तुलना में अधिक होगी, यह बात हाल ही में अदाणी समूह के मुख्य वित्तीय अधिकारी जुगशिंदर (रॉबी) सिंह ने निवेशकों (Investors) के साथ बैठक में कही. साथ ही उन्होंने कहा कि समूह जल्द ही इस उपलब्धि पर चर्चा करेगा लेकिन सीएफओ ने कंपनी (Company) का नाम गुप्त रखा था।

कंपनी का केवल भारत में कारोबार : जुगशिंदर सिंह ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस (Financial Express) के साथ एक साक्षात्कार में कथित तौर पर कहा कि ‘कंपनी का कारोबार (Business) केवल भारत तक सीमित है’. सॉवरेन रेटिंग से अधिक रेटिंग बनाए रखते हुए ऐसा करने वाली पहली अदानी समूह (Adani Group) की कंपनी होगी

Adani Group Big Update

जुगशिंदर सिंह का दावा है कि फर्म तेजी से बढ़ रही है और उसपर बहुत कम कर्ज (Debt) है, जो कंपनी को सफल (Success) होने में मदद कर रहा है और अडानी ग्रुप जल्द ही फर्म (Firm) के नाम का खुलासा भी करेगा।

सावरन रेटिंग अदानी समूह की दो संस्थाओं की रेटिंग के बराबर है और अडानी समूह में वर्तमान में 6 सूचीबद्ध कंपनियां (Listed Companies) हैं जो अदानी ट्रांसमिशन लिमिटेड (Adani Transmission Limited) की रेटिंग भारत की सॉवरेन रेटिंग के बराबर है. फिच और एस एंड पी ने कारोबार को बीबीबी- के रूप में रेट किया है

जबकि मूडीज ने इसे बीएए3 रेटिंग दी है. इन तीनों एजेंसियों ने भारत की सॉवरेन रेटिंग को समान रूप से समायोजित किया है और अदानी समूह की एक अलग फर्म अदानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (ADANI GREEN ENERGY LIMITED) की सावरन रेटिंग के समान रेटिंग है।

रिलायंस भी है इसमें शामिल : पिछले साल जून में रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) को फिच रेटिंग्स द्वारा भारत की सॉवरेन रेटिंग से अधिक रेटिंग दी गई थी, वहीं कंपनी के कर्ज (Debt) में कमी को फिच ने इसका कारण बताया था

जिसे कुछ विश्लेषकों (Analysts) ने जोर देकर कहा कि रिलायंस (Reliance) का संचालन देश के बाहर तक फैला हुआ है, और इसके परिणामस्वरूप, कंपनी की रेटिंग सॉवरेन रेटिंग से अलग है. जुगशिंदर सिंह ने कहा कि इस फर्म का संचालन भारत तक सीमित है और यह उस देश में विशेष रूप से संचालन करके सॉवरेन रेटिंग को पार करने वाली पहली अदानी समूह (Adani Group) की कंपनी (Company) होगी।

यह भी पढ़े –

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *