IIT छोड़कर बना दिया 750 करोड़ का बिज़नेस, यह कहानी सुनकर भर जायेगा मन में जोश

अंकित प्रसाद जोकि झारखण्ड के एक छोटे गाँव चाईबासा के रहने वाले है इनकी स्टोरी सुनकर आपके मन में जोश भर सकता है अंकित बचपन से ही इंटरप्रेन्योर माइंडसेट वाले बच्चे थे कंप्यूटर के क्षेत्र में उनकी रूचि बचपन से ही बन गई थी उनके पिता ने 1995 में उन्हें एक कंप्यूटर दिलवाया तथा उसी समय में वे चाईबासा से जमशेदपुर सिफ्ट हो गए उनका इंटरेस्ट कंप्यूटर में बना रहा है उनके पिता एक प्रोफेसर (NIT जमशेदपुर) थे अंकित का छोटा भाई राहुल है दोनों ने अपनी प्राइमरी स्कूलिंग चाईबासा के एक स्कूल से पूरी की

उन्हें इंग्लिश अल्फाबेट सही प्रकार से सिखने में समस्या आ रही थी लेकिन जब वे एनआईटी जमशेदपुर के डीएवी सक स्कूल में गए तो बाद में उनकी इंग्लिश अल्फाबेट की प्रॉब्लम ठीक हो गई अंकित और उनके छोटे भाई राहुल दोनों का इंटरेस्ट कंप्यूटर के प्रति था और अंकित ने बचपन से ही कोडिंग करना शुरू कर दिया और फिर दोनों भाइयो ने एक छोटी कंपनी की शुरुआत की वे वेब डिजाइनिंग करते है 2005 में अंकित ने 10वी कक्षा की बोर्ड परीक्षा दी और उन्होंने अपने स्कूल में तीसरी रैंक हासिल की 

Ankit Prasad IIT Dropout Success Story

अंकित ने बाद में एक बिज़नेस आईडिया पर काम किया उन्होंने एक सॉफ्टवेर को तैयार किया जिसका नाम टच टैलेंट रखा अंकित फ्लिप्कार्ट, स्नेपडील आदि कंपनियों से प्रभावित थे टच टैलेंट एक वेब आधारित प्लेटफोर्म है जहा यूजर अपनी आर्ट हो दाल सकते है कमेंट कर सकते है व शेयर भी कर सकते है

यह भी पढ़े – अखबार का बिजनेस शुरू करके हर महीने कमाए ₹20000 से भी ज्यादा

यूजर अपने डिजाईन व आर्ट्स को मोनेटाइज कर सकते है जब अंकित अपने भाई के साथ इस बिज़नेस आईडिया पर काम कर रहे थे उस समय में IIT Delhi में पढाई कर रहे थे और उन्होंने अपनी पढाई की बजाय अपने बिज़नेस आईडिया पर ज्यादा काम करना शुरू कर दिया और फिर उन्होंने IIT Delhi कॉलेज ड्रापआउट कर दिया और अपने बिज़नेस पर काम करना शुरू कर दिया

उसके बाद उन्होंने मोबाइल फ़ोन मार्किट में ‘बॉबल AI’ के जरिये एंट्री की उन्होंने बॉबल इंडिक को लांच किया यह एक यूनिक मोबाइल फ़ोन कीबोर्ड मोबाइल एप्लीकेशन है और यह कीबोर्ड 120 भाषाओं कोया सपोर्ट करता है और यह कीबोर्ड 37 इंडियन लैंग्वेज को भी सपोर्ट करता है बॉबल AI के वैल्यूएशन की बात करे तो इसकी वैल्यूएशन 2020 में 500 करोड़ से अधिक थी और यह अब 780 करोड़ रूपये से अधिक हो गई है 

यह भी पढ़े – कोचिंग क्लास का बिजनेस शुरू करें और घर बैठे कमाए अच्छी खासी रकम

लेटेस्ट बिज़नेस आईडिया के अपडेट निचे दिए गए Telegram बटन पर क्लिक करके हमारा ग्रुप जॉइन करे

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.