अंबानी की 2 कंपनियों के शेयर में तगड़ी खरीदारी

दोनों व्यवसायों के निवेशकों की नजर में अनिल अंबानी की कर्जदार रिलायंस पावर और रिलायंस इंफ्रा है. सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिन शुक्रवार को रिलायंस पावर और रिलायंस इंफ्रा के शेयरों में खासी खरीदारी देखी गई. चलिए जानते हैं कि इन शेयर का क्या परफॉर्मेंस रहा

बेचे गए शेयर: रिलायंस होम फाइनेंस के शेयर में शुक्रवार को बिकवाली देखी गई और कंपनी के शेयरों की कीमत 1.35 फीसदी गिरकर 3.67 रुपये पर आ गई. रिलायंस कैपिटल ₹ 9.25 से ₹4.92% पर समाप्त हुआ

रिलायंस कैपिटल के बोलीदाताओं ने उधारदाताओं और प्रशासकों के साथ कई कानूनी चिंताओं को उठाया है. इस रिपोर्ट के मीडिया में सामने आने के बाद बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज या बीएसई ने कॉर्पोरेशन से जवाब मांगा है

Heavy buying in shares of 2 companies of Ambani

क्या मामला चल रहा है : रिपोर्ट के अनुसार, हिंदुजा, टोरेंट, ज्यूरिख और पिरामल सहित बोलीदाताओं ने ज्यादातर रिलायंस कैपिटल की दो फर्मों का मुद्दा उठाया है. ये व्यवसाय रिलायंस जनरल इंश्योरेंस और रिलायंस होम फाइनेंस लिमिटेड हैं और संभावित कानूनी संघर्ष के कारण, बोली लगाने वाले सावधान हैं

रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी समूह विविध वित्तीय सेवाओं के लिए एक भारतीय होल्डिंग कॉरपोरेशन रिलायंस कैपिटल लिमिटेड को प्रायोजित करता है. वहीं रिलायंस समूह में रिलायंस कैपिटल शामिल है, जो एमएससीआई ग्लोबल स्मॉल कैप इंडेक्स और निफ्टी मिडकैप 50 का एक घटक है

यह भी पढ़े – अडानी की हिस्सेदारी वाली कंपनी का आ रहा है IPO, जानिए डिटेल्स

यह भारत में शीर्ष और सबसे मूल्यवान निजी वित्तीय सेवा संगठनों में से एक है, जहां 31 मार्च 2017 तक कंपनी की कुल संपत्ति 16,547 करोड़ रुपये थी, जबकि इसकी कुल संपत्ति 82,208 करोड़ रुपये थी. रिलायंस कैपिटल को भारत की 77वीं सबसे बड़ी कंपनी के रूप में और फॉर्च्यून इंडिया 500 2018 रैंकिंग की “गैर-बैंकिंग वित्त” श्रेणी में पांचवें स्थान पर रखा गया था

यह भी पढ़े – म्यूच्यूअल फण्ड में नॉमिनी का नाम कैसे जोड़े जानिए यह प्रक्रिया

एक भारतीय निजी क्षेत्र की कंपनी, रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, जिसे मूल रूप से रिलायंस एनर्जी लिमिटेड और बॉम्बे सबअर्बन इलेक्ट्रिक सप्लाई (बीएसईएस) के रूप में जाना जाता है जो बिजली के उत्पादन के साथ-साथ बुनियादी ढांचे, भवन और रक्षा में संलग्न है, साथ ही यह रिलायंस के अनिल धीरूभाई अंबानी समूह से संबंधित है

यह भी पढ़े – Demat Account में भी हो सकता है फ्रॉड, जानिए कैसे बचे

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *