जानिए कितना समय लगता मल्टीबैगर रिटर्न मिलने में

शेयर बाजार में निवेश करते समय ज्यादातर निवेशकों के दिमाग में एक ही लक्ष्य होता है और वह है ज्यादा से ज्यादा स्टॉक से पैसा कमाना और इक्विटी में निवेश करने वाले निवेशकों को रिटर्न मिलता है जो मुद्रास्फीति को मात देता है और समय के साथ बड़े आकार का कॉर्पस बनाने की क्षमता रखता है

मल्टीबैगर रिटर्न होने के लिहाज़ से कंपनी के पोर्टफोलियो के लिए न्यूनतम एक्सपोजर अवधि पांच वर्ष होनी चाहिए और यह संभावना है कि रिटर्न इस समय अनुमान से कम या नकारात्मक भी होगा

शब्द “मल्टीबैगर स्टॉक” कंपनियों के एक वर्ग को संदर्भित करता है जो न केवल निवेशकों को मुद्रास्फीति के साथ बनाए रखने में मदद करता है बल्कि ऐसे उत्कृष्ट रिटर्न भी प्रदान करता है कि निवेशक के निवेश का मूल्य समय के साथ नाटकीय रूप से बढ़ता है

How long does it take to get a multibagger return

तमाम संभावनाओं के बावजूद, यह भी अक्सर होता है कि जिस बिजनेस को आपने मल्टीबैगर के तौर पर तय किया था, वह बेयरिश हो जाता है. ज्यादातर मामलों में मल्टीबैगर स्टॉक रातों-रात नहीं बन जाते हैं उनमें काफी समय लगता है और इस अवधि को अक्सर वर्षों में मापा जाता है. इसके अतिरिक्त, इसका इसके शेयरों के बाजार मूल्य पर प्रभाव पड़ता है, और आप नुकसान के लिए जिम्मेदार होते हैं

मल्टीबैगर रिटर्न इस तरह प्राप्त करें: आपका पोर्टफोलियो 10% से कम या नुकसान भी दे सकता है, लेकिन आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि ये परिणाम बेंचमार्क इंडेक्स की तुलना में कैसे हैं. अगर आपका पोर्टफोलियो ऐसे शेयरों से बना है

यह भी पढ़े – हर शेयर पर 850 रुपये का डिविडेंड, जानिए स्टॉक का नाम

जो मल्टीबैगर रिटर्न दे सकते हैं तो आपको कम से कम 5-7 साल उस शेयर को होल्ड करने होंगे. निफ्टी या सेंसेक्स बेंचमार्क सूचकांकों के उदाहरण हैं और मल्टीबैगर पोर्टफोलियो से रिटर्न बेंचमार्क से लगभग 15% से 20% तक अधिक होना चाहिए

यह भी पढ़े – 17% से ज्यादा चढ़ा यह स्टॉक, जानिए स्टॉक का नाम

अगर योजना काम नहीं करती है तो ये करें: सितंबर 2016 और सितंबर 2022 के बीच, बजाज फाइनेंस के शेयर की कीमत में कम से कम छह बार 15% से अधिक की गिरावट आई, फिर भी स्टॉक ने 522% का शुद्ध रिटर्न भी उत्पन्न किया

यानी मल्टीबैगर शेयर जिगजैग पैटर्न में चलते हैं और यह कभी-कभार ज्यादा बेयरिश हो जाएगा. अगर शेयर की कीमत गिर गई है, तो निवेशक को विचार करना चाहिए कि क्या कंपनी के मूलभूत सिद्धांत मतलब पॉलिसी बदल गए हैं

यह भी पढ़े – यह शेयर हुआ सस्ता, कम्पनी देने वाली है बोनस जानिए डिटेल्स

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *