जानिए गौतम अडानी जैसे अरबपतियों पर है कितना कर्ज 

मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार गौतम अडानी के ऊपर भारी कर्ज चढ़ा हुआ है बताया जाता है कि उन्होंने अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए यह कर्ज लिया था. फिच रेटिंग्स की क्रेडिटसाइट्स ने अपने क्रेडिट नोट में अडानी ग्रुप की कंपनियों को कर्ज में डूबा हुआ बताया है.

असल में मुकेश अंबानी(Mukesh Ambani) और गौतम अडानी (Gautam Adani) के बीच स्पर्धा चलती रहती थी और यही वजह मानी जा रही है जिसकी वजह से गौतम अडानी के ऊपर इतना कर्ज़ है . क्रेडिट साइट्स के अनुसार कई कंपनियों को कर्ज के उच्च स्तर को कम करने के लिए पूंजी डालने की आवश्यकता पड़ती है.

How much debt do billionaires like Gautam Adani have

जैसा कि आप जानते हैं कि बड़ा बिजनेस शुरू करने के लिए बहुत पैसों की आवश्यकता पड़ती है जिसके चलते व्यापारी कर्ज लेते हैं ऐसे ही गौतम अडानी के अलावा भी कई व्यापारी ऐसे हैं जिन पर बहुत कर्जा है बस फर्क इस बात का है कि किसी पर कम कर्ज है तो किसी पर ज्यादा। आइए जानते हैं कि गौतम अडानी के अलावा और कौन कौन से व्यापारी ऐसे हैं जिन पर कर्ज है।

2022 के आंकड़ों के अनुसार अभी तक जिस कंपनी पर सबसे ज्यादा कर्जा है वह है टाटा ग्रुप (Tata Group). टाटा ग्रुप की कंपनी अभी 2.89 लाख करोड़ के कर्ज तले दबी है परंतु आप यह भी जानते हैं कि टाटा ग्रुप कोई छोटी मोटी कंपनी नहीं है वह इस कर्जे को आराम से पूरा चुका सकती है और अधिक कर्ज का मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि कंपनी किसी संकट में है, क्योंकि कोई भी व्यापार शुरू करने के लिए कर्ज की आवश्यकता तो पड़ती है.

गौतम अडानी जो कि भारत के सबसे अमीर शख्स माने जाते हैं वह अपनी कंपनी अडानी ग्रुप को और भी आगे बढ़ाने में लगे हुए हैं.  हालांकि इसके लिए उन्हें मार्केट से काफी पैसा उठाना पड़ सकता है  अर्थात कर्ज लेना पड़ सकता है  लेकिन  आप तो जानते ही हैं  कि यह कर्ज  काफी जल्दी  उतर भी जाएगा . अडानी ग्रुप तेजी से नए-नए वेंचर्स में एंट्री मार रहे हैं

जिसमें उन्हें काफी पैसा लगाना पड़ रहा है, मार्च 2022 तक की बात करें तो कंपनी पर कुल कर्ज करीब 2.22 लाख करोड़ रुपये है.  यह कर्जा  उनके पिछले साल लिए हुए कर्जे से 42 फ़ीसदी ज्यादा है. हालांकि, गौतम अडानी की नेट वर्थ आज की तारीख में करीब 137.5 अरब डॉलर है.

यह भी पढ़े –

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *