आपने ले रखा है लोन तो आपके लिए है खुशखबरी

भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के द्वारा एक आदेश जारी किया गया है जिसके तहत अब रिकवरी एजेंट की जरूरत है लोन लेने के लिए नहीं होगी। आइए जानते हैं इस आर्टिकल में पूरा मामला भारतीय रिजर्व बैंक को तो आप जानते ही होंगे जहां हाल ही में उन्होंने एक बहुत बड़ा आदेश जारी किया है जिसमें महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंस सर्विसेज पर लोन रिकवरी के लिए थर्ड पार्टी रिकवरी एजेंट पर रोक लगा दिया गया है

इसके अलावा आरबीआई में यह भी कहां है कि कंपनी किसी दूसरे तरीके जैसे कि आउटसोर्सिंग सिस्टम का यूज करके लोन की वसूली और इसके अलावा प्रीपोजिशन एक्टिविटी जैसे तारीख को भी यूज नहीं करना है। आसान शब्दों में कहा जाए तो अब लोन वसूली के लिए एजेंटों का इस्तेमाल बंद होगा जिसे आरबीआई द्वारा जारी किया गया है

Big Update For Loan Agents

आखिर क्या है वजह: आखिरी यह फैसला आरबीआई ने क्यों लिया है, तो हम आपको बता दें कि इसके पीछे सबसे बड़ी वजह महिंद्रा फाइनेंस के रिकवरी एजेंट है जिसने झारखंड के हजारीबाग में महिंद्रा फाइनेंस द्वारा लोन ना जमा करने पर उनसे की गई जबरदस्ती ही सबसे बड़ी वजह है

यह भी पढ़े – Forex में आया तगड़ा उछाल, जानिए डिटेल्स

इस मामले में आरोप लगाने वाले लोगों ने इन एजेंटों पर गंभीर आरोप लगाए हैं जहां एजेंटों ने ट्रैक्टर को कब्जे में करने की कोशिश की और इसे रोकने के लिए 2 महीने की गर्भवती मोनिका अपने पिता के साथ वहां पहुंची। उन्होंने यह वसूली जबरदस्ती इसलिए की क्योंकि उन्होंने ट्रैक्टर के लोन पर 10000 का ब्याज नहीं अदा किया था

इस वारदात में एजेंटों द्वारा जबरदस्ती वसूली के चलते दिव्यांग किसान की बेटी मोनिका की उन्होंने ट्रैक्टर से कुचल कर हत्या कर दी और यही सबसे बड़ी वजह है आरबीआई द्वारा यह कठोर कदम उठाने का

यह भी पढ़े – यह बैंक दे रहा है तगड़ा ब्याज, चेक करें ब्याज दरें

अब कौन करेगा वसूली? अगर रिकवरी एजेंट वसूली नहीं करेगी तब आकर इसके जगह कौन वसूली करेगा? आरबीआई ने लोगों को साफ-साफ बताया है कि आप कोई भी थर्ड पार्टी एजेंट या कोई और लोन वसूली के लिए बाहरी नहीं करेगी, पर ऐसा भी नहीं है कि आपके द्वारा लोन दिए गए राशि के रिकवरी नहीं की जाएगी. कंपनी वसूली की गतिविधियों को दूसरे तरीके से जारी रख सकती है और आरबीआई द्वारा आगे इसका स्पष्टीकरण दिया जाएगा

यह भी पढ़े – तगड़ी कमाई वाले 5 शेयर्स, जानिए इनका नाम

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

अन्य खबरे पढ़े -

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *