IT सेक्टर के शेयरों तगड़ी गिरावट, जानिए डेटल में

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका आज के इस पोस्ट में जहां आपको जानने को मिलेगा आईटी सेक्टर के शेयरों के बारे में जहां उनके शेयरों की हालत अच्छी नहीं है, तो चलीए जानते हैं कि इसके पीछे क्या कारण है?

आज क्रेडिट सुइस सिक्योरिटीज इंडिया ने कहा कि अमेरिका और यूरोप जैसे अन्य बड़े बाजारों की मौजूदा स्थितियों की तुलना में भारत की सबसे बड़ी आईटी कंपनियों की कीमतें बहुत अधिक दिखती हैं। उन्हें लगता है कि इसका मतलब यह हो सकता है

कि ये कंपनियां निकट भविष्य में स्टॉक में और गिरावट देखेंगी क्योंकि इन देशों की अर्थव्यवस्था बिगड़ रही है। दुनिया भर के विशेषज्ञ इस बात से सहमत हैं कि वर्ष 2023 के अंत तक अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी के कारण अमेरिका की अर्थव्यवस्था मंदी की चपेट में आ सकती है

IT sector shares fell sharply

मंदी से चार टॉप भारतीय आईटी कंपनियों को नुकसान: क्रेडिट सुइस के अनुसार, विकसित देशों में मंदी के दौरान भारत की चार सबसे बड़ी आईटी कंपनियों को काफी नुकसान होगा। अमेरिकी फेडरल रिजर्व महंगाई पर अंकुश लगाने की कोशिश करने के लिए लगातार ब्याज दरों में वृद्धि कर रहा है

जो अमेरिका में उच्च स्तर पर चल रही है। मार्च के बाद से, फेड ने ब्याज दरों में 3.5% की वृद्धि की है और इसके अलावा फेड अपनी बैलेंस शीट में बांड अपनी हिस्सेदारी की मात्रा कम कर रहा है, जिसे एक तरह से क्वान्टिटेटिव टाइटनिंग कहा जा सकता है

यह भी पढ़े – बैंकिंग कंपनी के स्टॉक पर एक्सपर्ट्स की राय, जानिए डिटेल में

कई लोगों का मानना है कि जब अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मंदी आती है, तो यह भारतीय आईटी क्षेत्र के लिए बुरी खबर है क्योंकि भारतीय आईटी कंपनियों की आय का एक बड़ा हिस्सा लगभग 45-60% अमेरिका में बिक्री से आता है

यह भी पढ़े – LIC के निवेशको के लिए बड़ा अपडेट, जानिए डिटेल में

इस वजह से, ग्राहक भारतीय आईटी कंपनियों के प्रौद्योगिकी उत्पादों पर कम पैसे खर्च करने का विकल्प चुन सकते हैं। इस हफ्ते, दुनिया की सबसे बड़ी क्लाउड कंप्यूटिंग कंपनियों में से एक, Amazon Web Services के एक ग्राहक ने कहा कि वे इन सेवाओं पर अपने खर्च को कम करने की तैयारी कर रहे हैं। उनका कहना है कि ऐसा इसलिए है क्योंकि अमेरिकी अर्थव्यवस्था खराब स्थिति में है

यह भी पढ़े – इस शेयर में हर दिन लग रहा अपर सर्किट, जानिए डिटेल में

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

अन्य खबरे पढ़े -

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *