Tata ग्रुप ने दिया छप्परफाड़ रिटर्न, जानिए स्टॉक का नाम

Tata group का एक और Multibagger Stock: टाटा ग्रुप का एक स्टॉक टाटा इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन (Tata Investment Corporation) 3महीने में ही मल्‍टीबैगर बन गया है. टाटा इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन के शेयर में 1 हफ्ते में 47% से ज्‍यादा ऊपर की उछल गया तो आइए अब क्या हैं पूरी कहानी

Tata group Multibagger Stock: टाटा ग्रुप में ऐसे कई ऐसे शेयर्स हैं,चाहे वो टाटा मोटर्स ,टाटा पावर, टाइटन, टाटा एलेक्सी, हो जो निवेशकों को तगड़ा रिटर्न देने में कामयाब हुए है. आपको बता दे की पिछले 3 महीने में ही टाटा ग्रुप का एक स्टॉक टाटा इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन (Tata Investment Corporation) ने निवेशकों को मल्‍टीबैगर रिटर्न देने में सफल हुआ हैं.

Tata Group gave a sloppy return

टाटा इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन ने पिछले 1 हफ्ते (12 सितंबर से 16 सितंबर) के ट्रेडिंग सेशन में 47% से ज्‍यादा रिटर्न देने सफल हो गया. Tata Investment Corporation शेयर ने NSE पर ₹2886.50 रुपये का अपना 52 हफ्ते का high भी बना दिया हैं। 3 महीने का शेयर चार्ट देखा जाए तो अब तक इसने, पैसे को डबल कर दिया है. जहा एक हफ्ते (12 सितंबर से 16 सितंबर) में निफ्टी50 में 2.5% के आसपास गिरावट हुई हैं

3 महीने में स्टॉक में पैसा डबल: पिछले तीन महीने में 125 फीसदी का रिटर्न टाटा इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन (TICL) के शेयर में देखने को मिला है. इस बीच भाव 1231.35 रुपये ( जो 20 जून 2022 को था ) से बढ़कर 2763.90 रुपये (16 सितंबर 2022) पर पहुंच गया था

19 सितंबर 2022 को शेयर में 2.4% से ज्‍यादा गिरावट हुई थी . इतनी तेजी के बाद प्रॉफिट बुकिंग की संभावना काफी बढ़ जाती हैं । मात्र 1 महीने में शेयर करीब 81% से ज्यादा उछल चुका है. और बाजार में मंदी होने के बावजूद शेयर का पिछले 6 महीने का रिटर्न 99 फीसदी से ज्‍यादा का है.

क्‍या है TICL का कारोबार: टाटा इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (TICL) टाटा संस की एक नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी NBFC है, जो भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) से इन्‍वेस्‍टमेंट कंपनी सेगमेंट के तौर रजिस्टर्ड है. कंपनी long term निवेश के स्त्रोत जैसे इक्विटी शेयर, डेट , लिस्‍टेड और अनलिस्‍टेड कंपनियों के इक्विटी सिक्‍युरिटीज में इन्वेस्टिंग करती है. कंपनी इन्वेस्टमेंट और एसेट्स मैनेजमेंट का काम करती हैं

कंपनी की इनकम आने वाले ब्‍याज, डिविडेंड और स्टॉक्स की buying-selling से होने वाला प्रॉफिट ही है.अच्छे पोर्टफोलियो मैनेजमेंट से टाटा इन्वेस्टमेंट ने निवेश का एक अच्छा सा पोर्टफोलियो बनाया हुआ है. और कंपनी को जून तिमाही (Q1FY23) में नेट प्रॉफिट 66.5% बढ़ा हैं जो कि 89.7 करोड़ रुपये का था कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष जून तिमाही (Q1FY22) में 60 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट किया था.

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट और लोस के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *