अंबेडकर हस्तशिल्प विकास योजना के बारे में विस्तृत जानकारी

अंबेडकर हस्तशिल्प विकास योजना

अंबेडकर हस्तशिल्प विकास योजना के बारे में विस्तृत और स्पष्ट जानकारी इस प्रकार है

अंबेडकर हस्तशिल्प विकास योजना का परिचय

अम्बेडकर हस्तशिल्प विकास योजना

उद्देश्य:-

  • स्वयं सहायता समूहों के निर्माण के लिए कारीगरों को जुटाना और ऋण देना

कारीगरों की सेल्फ सस्टेनेबिलिटी के लिए सामुदायिक व्यापार उद्योगों के निर्माण और उनके संचालन के विभिन्न पहलुओं पर स्वयं सहायता समूहों का प्रशिक्षण

योजना की विशेषताएं:-

  • बेसलाइन सर्वेक्षण और कारीगरों का मोबिलाइजेशन डिजाइन और प्रौद्योगिकी उन्नयन
  • मानव संसाधन विकास
  • कारीगरों को प्रत्यक्ष लाभ
  • अवसंरचना एवं तकनीकी समर्थन
  • अनुसंधान और विकास
  • विपणन सहायता और सेवाएं

अन्य महत्वपूर्ण तथ्य:-

  • इस योजना के तहत सरकार द्वारा देशभर में की गई 90 क्लस्टरों की पहचान
  • आकांक्षी जिलों, महिला समूहों, कमजोर वर्गों तथा संभावित निर्यातक समूह को भी इसके अंतर्गत कवर किया जाएगा
  • लक्ष्य- स्वयं सहायता समूहों\ कारीगरों की आत्मनिर्भरता को सुनिश्चित करके 3 साल के भीतर क्लस्टरों में परिवर्तन लाना
  • वित्तीय वर्ष 2019-2020 के दौरान निर्माता कंपनी के कार्य क्षेत्र के बारे में कारीगरों को सामूहिक रूप से शिक्षित करने के लिए सरकार ने की है एक पहल
  • पहल का उद्देश्य-
  • कारीगरों को सामूहिक रूप से शिक्षित करना
  • दीर्घकालिक व्यापार विकास को बढ़ावा देना

देशभर के विभिन्न समूह क्षेत्रों में उत्पादक कंपनियों के निर्माण के लिए भावी कारीगरों\ स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों को प्रेरित करना

– मैं आशा करता हूं कि आपको इस  योजना से जुड़ी जानकारी आसानी से समझ में आएगी और पसंद भी आएगी धन्यवाद

Also Read…

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.